डॉ अजय सहाय को दिल्ली में मिला ‘रियल सुपर हीरो अवार्ड’

मिसाल न्यूज़

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के प्रख्यात चिकित्सा विशेषज्ञ व ‘गरीबों के मसीहा’ के नाम से अंचल में प्रसिद्ध डॉ अजय मोहन सहाय को यूनाइटेड नेशंस के सौजन्य से विश्व मानवता दिवस के अवसर पर दिल्ली में आयोजित एक गरिमामय समारोह में उल्लेखनीय व असाधारण समाज सेवाओं के लिए “रियल सुपर हीरो अवार्ड” से अलंकृत किया गया। यह सम्मान उन्हें श्री कॉलीबेली हार्वे (बुरकिना फासो के डिप्लोमेट) एवं रशियन अभिनेत्री सुश्री तमारा मल्टसेवा द्वारा प्रदान किया गया।

डॉ सहाय विगत साढ़े तीन दशकों से समाज के कमज़ोर वर्गों, पिछड़े दूरस्थ इलाकों एवं घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा शिविर एवं जागरूकता कार्यक्रम चलाकर निशुल्क चिकित्सा सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। डॉ सहाय एक जाने माने फिल्मकार, अभिनेता व स्थापित पटकथा लेखक भी हैं। उन्होंंने विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं तथा सामाजिक कुरीतियों पर केंद्रित सैकड़ों शॉर्ट फिल्मों, प्रोमोज, वृत्त चित्र व नृत्य नाटिकाओं की रचना की है। उनकी रचनाओं को दूरदर्शन द्वारा छायांकित करके राष्ट्रीय एवं स्थानीय चैनल्स पर बारंबार प्रसारित किया गया। इनका निर्देशन भी डॉ सहाय द्वारा किया गया था। डी डी किसान नेशनल नेटवर्क द्वारा प्रसारित धारावाहिक ‘परिवर्तन’ का निर्देशन भी डॉ सहाय ने किया था। यह धारावाहिक स्वच्छ भारत अभियान पर आधारित था।इस धारावाहिक से उन्हें राष्ट्रीय ख्याति मिली। सन् 2018 में रायपुर में आयोजित दूसरे राष्ट्रीय शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल, जो कि समाज मे कानूनी जागरूकता के लाने के लिए आयोजित किया गया था में डॉ सहाय की शॉर्ट फिल्म ‘ कैसे बताऊं’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का एवं उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला। 2021 में आयोजित तीसरे फेस्टिवल में पुनः उनकी शॉर्ट फिल्म ‘नोनी’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला। ये पुरस्कार उन्हें छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीशों द्वारा प्रदान किए गए थे। कोरोना महामारी के दौरान उन्होंने पीड़ित समाज की तन मन धन से सेवा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.