विधायकगण 5 राज्यों के चुनाव में व्यस्त थे, इसलिए इस बार का बजट सत्र छोटा-डॉ. महंत

मिसाल न्यूज़

रायपुर। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि चूंकि 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव हो रहे थे, इसीलिए इस बार छत्तीसगढ़ विधानसभा का बजट सत्र छोटा रखा गया है। बजट सत्र की शुरुआत 7 मार्च से होगी। प्रथम दिन 11 बजे राज्यपाल का अभिभाषण होगा। छत्तीसगढ़ सरकार का बजट 9 मार्च को पेश होगा।

विधानसभा में आज मीडिया से बातचीत के दौरान डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि 5 राज्यों में चुनाव होने के कारण यहां के विधायकगण बाहर प्रचार में व्यस्त थे। 7 मार्च को अंतिम चरण का मतदान होगा, जिसके लिए चुनाव प्रचार 5 मार्च को थम जाएगा। इस तरह बाहर गए विधायकों की 6 एवं 7 मार्च तक वापसी होगी और वे बजट सत्र में प्रारंभ से हिस्सा ले सकेंगे। 5 राज्यों के चुनावों में विधायकों की व्यस्तता को देखते हुए यह सत्र छोटा रखा गया है। डॉ. महंत ने बताया कि बजट सत्र 7 से 25 मार्च तक चलेगा। कुल 13 बैठकें होंगी।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जो वित्त विभाग के भारसाधक मंत्री भी हैं 9 मार्च को दोपहर 12.30 बजे सदन में 2022-23 का अनुमानित बजट पेश करेंगे। बजट पर सामान्य चर्चा 10 मार्च को होगी। वहीं बजट से संबंधित विभागावार अनुदान मांगों पर चर्चा 11 से 23 मार्च तक होगी। 2021-22 का तीसरा अनुपूरक बजट 7 मार्च को सदन में रखा जाएगा। इस पर चर्चा 8 मार्च को होगी। बजट सत्र में पूर्व विधायक व्दय रमेश वर्ल्यानी एवं मदन सिंह डहरिया तथा भारत रत्न स्वर कोकिला लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

डॉ. महंत ने आगे बताया कि बजट सत्र के लिए अब तक 1682 प्रश्न लगे हैं, जिनमें 854 प्रश्न तारांकित एवं 828 प्रश्न अतारांकित हैं। ध्यानाकर्षण की 114, स्थगन प्रस्ताव की 10, नियम 139 के अधीन अविलंबनीय लोक महत्व के विषय पर चर्चा के लिए 4, अशासकीय संकल्प की 7, शून्यकाल की 16 एवं याचिका की 45 सूचनाएं प्राप्त हुई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.