पुराना ठेकेदार नहीं कर पाया गोगांव अंडरब्रिज का काम, अब नये को ठेका, 5 साल से लटका पड़ा प्रोजेक्ट

0 पुराने ठेकेदार को किया टर्मिनेट,
0 एक करोड़ 38 लाख अमानत राशि जप्त
0 नए ठेकेदार को स्वीकृति पत्र जारी

मिसाल न्यूज़

रायपुर। उरकुरा-सरोना बायपास रेल लाइन पर गुढ़ियारी- गोगांव रेलवे अंडर ब्रिज के काम में लगातार देरी को देख अंततः शासन एवं प्रशासन का धैर्य जवाब दे गया। लोक निर्माण विभाग ने इस अंडर ब्रिज को बनाने में लगे ठेकेदार मे. व्ही बी प्रापर्टीज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर को काम में लापरवाही, धीमी प्रगति और कई बार नोटिस दिए जाने के बाद भी काम में उदासीनता बरतने पर टर्मिनेट कर दिया है। इसके साथ ही अब फिर से निविदा बुलाकर नए ठेकेदार को अनुबंधित कर स्वीकृति पत्र भी जारी कर दिया गया है। गोगांव अंडर ब्रिज का बांकी काम अब मेसर्स बंसल  इंफ़्रास्ट्रक्चर प्राईवेट लिमिटेड द्वारा किया जाएगा। काम पूरा करने विभाग ने छह माह की अवधि निर्धारित की है।

लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग रायपुर के इंजीनियर सी के पांडेय ने आज यहाँ बताया कि गुढ़ियारी-गोगांव रेल मार्ग पर गोगांव गेट पर अंडर ब्रिज बनाने का काम मई 2016 में मे. व्ही बी प्राॅपर्टीज एण्ड इन्फ्राॅस्ट्रक्चर को दिया गया था। कार्य एजेंसी को वर्षाकाल के साथ 12 महीने में काम पूरा करना था। कार्य स्थल पर अतिक्रमण को हटाने में देरी के कारण ठेकेदार को गोगांव अंडरब्रिज बनाने की समयावधि जनवरी 2018 तक बढ़ाई गई थी। कार्य एजेंसी द्वारा श्रमिकों की कमी, आवश्यक संसाधनों की कमी और कुशल तकनीकी स्टाॅफ नहीं होने के कारण इस समय अवधि में काम पूरा नहीं किया जा सका। अंडरब्रिज में बाक्स पूशिंग के लिए भी जरूरी तकनीकी उपकरण और कर्मचारी उपलब्ध नहीं कराये जाने के कारण अंडरब्रिज का काम निर्धारित कार्य योजना अनुसार नहीं किया जा सका। पाण्डेय ने बताया कि काम की धीमी गति, लापरवाही और समय अवधि में कार्य योजना अनुसार काम पूरा नहीं होने के कारण मेसर्स व्ही बी प्राॅपर्टीज एण्ड इन्फ्राॅस्ट्रक्चर को समय-समय पर नोटिस भी जारी किए गए लेकिन कंपनी द्वारा गोगांव अंडरब्रिज का काम पूरा करने में कोई सकारात्मक पहल नहीं की गई। कंपनी द्वारा केवल पांच बाक्सों के निर्माण एवं गोगाँव की ओर पहुंच मार्ग का आंशिक काम अब तक किया गया है। कंपनी ने कार्य के लिए निर्धारित अवधि पूरी होने के बाद भी अब तक केवल 39 प्रतिशत काम ही किया है। काम की धीमी गति, उदासीनता और कई बाद नोटिस दिए जाने के बाद भी गोगांव अंडरब्रिज निर्माण के काम में अपेक्षित प्रगति नहीं होने के कारण लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग द्वारा पिछले दिसम्बर महीने में कंपनी के अनुबंध को टर्मिनेट कर दिया गया है। कम्पनी से साढ़े 87 लाख रुपए की वसूली भी की जा रही है साथ ही कम्पनी की 51 लाख रुपए की जमा सुरक्षा अमानत राशि भी जप्त की जाएगी।

पाण्डेय ने बताया कि अंडर ब्रिज के बाकी बचे काम के लिए फिर से निविदा बुलाई गई।10 करोड़ 28 लाख रुपए की लागत वाली नई निविदा को प्रशासन द्वारा जनवरी 2022 में ही स्वीकृत कर लिया गया है और नए ठेकेदार बंसल इंफ़्रास्ट्रक्चर प्राईवेट लिमिटेड को स्वीकृति पत्र भी जारी कर दिया गया है। जल्द ही नए ठेकेदार को कार्य आदेश जारी किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि अगले छह महिने में गोगांव अंडरब्रिज का काम पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और इस समयावधि में तेजी से काम पूरा कराया लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.