मानसून फूड फेस्टिवल ‘जश्न-ए-ज़ायका’ की रायपुर से शुरुआत… और भी पर्यटन स्थलों में होगा आयोजन…

मिसाल न्यूज़

रायपुर। 17 जुलाई से 7 अगस्त तक चलने वाले मानसून फूड फेस्टिवल जश्न-ए-ज़ायका का उद्घाटन ग्रैंड इंपिरिया होटल रायपुर में हुआ। कार्यक्रम के प्रमुख अतिथिगण छत्तीसगढ़ टूरिज्म बोर्ड के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष श्रीमती चित्रलेखा साहू, वन विभाग के सचिव प्रेम कुमार, पर्यटन मंडल के संचालक अनिल साहू, सीनियर आइएफएस एवं बायो डाईवार्सिटी अरुण पांडेय, छत्तीसगढ़ सरकार के योजना सलाहकार गौरव द्विवेदी एवं रूपेश पांडे सीईओ नेशनल यूथ हॉस्टल सीईओ रूपेश पांडे थे।

उद्घाटन समारोह में फूड ब्लॉगर,खाद्य एवं पोषण विशेषज्ञ के साथ टूर ऑपरेटर,ट्रेवल एजेंट शामिल हुए। आगे यह कार्यक्रम प्रसिद्ध पर्यटन स्थल चित्रकोट (बस्तर),कबीर चबूतरा (गौरेला पेंड्रा मरवाही), सरोधा दादर (कवर्धा) एवं मैनपाट ( सरगुजा) में प्रत्येक शनिवार – रविवार को होगा। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल  फूड फेस्टिवल की आगे की तैयारियों में लगा हुआ है। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव की परिकल्पना को साकार रूप प्रदान करने के लिए यहआयोजन किया जा रहा है ताकि प्रदेश के पर्यटन स्थलों का व्यापक प्रचार-प्रसार हो सके। छत्तीसगढ़, प्रकृति का गढ़ है और यहां 44 प्रतिशत वन क्षेत्र है। यहां के ज्यादतर पर्यटन स्थल वनों से घिरे हुए हैं। इस मानसून में प्राथमिक तौर पर रायपुर सहित 5 पर्यटन स्थलों का चयन कर फूड फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है। फूड फेस्टिवल में छत्तीसगढ़ी व्यंजनों के साथ दूसरे राज्यों और विदेशी व्यंजन भी तैयार किए जाएंगे। इसके लिए छत्तीसगढ़ शासन की संस्था इंस्टीटयूट ऑफ होटल मैनेजमेंट के फाइनल ईयर के स्टूडेंटस को ट्रेनी के रूप में भेजा जाएगा।आईएचएम रायपुर के वरिष्ठ प्रशिक्षक और देश के प्रतिष्ठित होटल समूह से अनुभव प्राप्त फैकल्टी, अलग-अलग रिसोर्ट में विद्यार्थियों को मार्गदर्शन देने मौजूद रहेंगे, ताकि IHM के विद्यार्थी प्रोफेशनल और प्रेक्टिकल अनुभव प्राप्त कर निकट भविष्य में किसी बड़े होटल ग्रुप में सेवा प्रदान करने के लिए संपूर्ण रूप से तैयार हो सकें।17 जुलाई से 7 अगस्त तक रायपुर सहित पांच पर्यटन स्थलों पर प्रत्येक शनिवार-रविवार को मानसून फूड फेस्टिवल के साथ ही सांस्कृतिक संध्या, सुगम संगीत का भी आयोजन होगा ताकि लोग मानसून का पूर्ण रूप से आनंद उठा सकें।

इस फूड फेस्टिवल का मुख्य उद्देश्य प्रदेश एवं अन्य राज्यों के पर्यटकों को मानसून के मौसम में छत्तीसगढ़ के पर्यटन स्थलों के नैसर्गिक सौंदर्य के दर्शन कराने के साथ ही राज्य की कला संस्कृति,जीवन शैली और खान-पान से भी परिचित कराना है। इस प्रोग्राम में यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया एवं छत्तीसगढ़ टुरिज़म बोर्ड के मध्य एक MOU भी सम्पन्न हुआ। इसके तहत अब CTB की सभी गतिविधियों में यूथ हॉस्टल की की संयुक्त भागीदारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.