ओम माथुर को 24 घंटे में ही छत्तीसगढ़ की चुनौती समझ में आ गई, महसूस हो गया भूपेश से बड़ा कोई नेता नहीं- सुशील आनंद

रायपुर। भाजपा प्रभारी ओम माथुर द्वारा भाजपा नेताओं से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को टार्गेट किये जाने के आह्वान पर कांग्रेस की ओर से बड़ी प्रतिक्रिया आई है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि एम माथुर जब रायपुर आये तो अति उत्साह में उन्होंने कहा था छत्तीसगढ़ में भाजपा को कोई चुनौती नहीं है। 24 घंटा छत्तीसगढ़ में रूकने के बाद उन्हें छत्तीसगढ़ में असली चुनौती समझ में आ गयी। उन्हें महसूस हो गया कि छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कद का उनको टक्कर देने वाला कोई नेता नहीं है तथा कांग्रेस सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं और जनकल्याणकारी कार्यों का भाजपा के पास कोई मुकाबला नहीं है। इसीलिये माथुर मुख्यमंत्री को टार्गेट करने की बात कर रहे हैं।

सुशील आनंद शुक्ला ने एक बयान जारी कर कहा कि ओम माथुर अभी राजधानी रायपुर से बाहर नहीं निकले उन्हें चुनौती समझ में आ गई। जैसे ग्रामीण क्षेत्र में जायेंगे उन्हें भाजपा की दुर्गति भी दिखने लगेगी। माथुर के पहले डी. पुरंदेश्वरी ने भी भाजपा नेताओं से कहा था कि  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का किसान होना भाजपा के लिये बड़ी चुनौती है। भाजपा के केंद्रीय नेताओं को इस बात का अहसास है कि छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल के कद का भाजपा में कोई नेता नहीं है इसीलिये भाजपा मोदी के चेहरे को आगे कर चुनाव में जाने की बात करती है। विपक्ष में रहने पर किसी भी दल में दल का अध्यक्ष और उसके विधायक दल का नेता स्वाभाविक नेता होता है लेकिन भाजपा को अपने प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता पर भरोसा नहीं है।

शुक्ला ने कहा कि भूपेश बघेल की लोकप्रियता उनका छत्तीसगढ़ के प्रति प्रेम भाजपा की सबसे बड़ी चुनौती है। कांग्रेस की सरकार बनने के बाद राज्य के लोगों को लगने लगा है कि छत्तीसगढ़ में उनकी अपनी सरकार बनी है। आज गेड़ी चढ़ने, बोरे बासी खाने, छत्तीसगढ़ महतारी की जय बोलने में छत्तीसगढ़ के लोगों को गर्व की अनुभूति हो रही है। यही कारण है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता ननकीराम कंवर भी मान रहे राज्य में 2023 में भी भाजपा की सरकार नहीं बनेगी। ओम माथुर को समझ आ गया कि छत्तीसगढ़ में भाजपा के सामने 15 साल बनाम 4 साल की चुनौती है। जनता भाजपा के 15 साल के कुशासन की तुलना कांग्रेस सरकार के 4 साल से करती है। जनता को 15 साल के भाजपा के कुशासन के बाद एक जनकल्याणकारी सरकार मिली है। किसान को उनकी उपज की पूरी कीमत मिल रही है। किसान का कर्जा माफ हो गया, युवाओं को रोजगार मिल रहा, बेरोजगारी दर देश में सबसे कम है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद 5 लाख युवाओं को रोजगार मिला है। छत्तीसगढ़ में हर वर्ग सरकार से खुश है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र के 90 प्रतिशत वायदे को पूरा कर दिया। भाजपा कांग्रेस सरकार पर भ्रष्टाचार के एक आरोप नहीं लगा पाई है। इसके विपरीत ओम माथुर को जनता को नान घोटाले, डी.के.एस. घोटाले, अंतागढ़ कांड का भी जवाब देना होगा। रमन सरकार की वायदा खिलाफी और धोखाधड़ी को जनता भूली नहीं है। भाजपा को मोदी सरकार की वायदा खिलाफी का भी जवाब देना होगा। 15 लाख हर के खाते, 2 करोड़ नौकरी, महंगाई कम करने, किसानों की आय दुगुनी के वायदों का जनता हिसाब मांग रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.