विश्व बाल दिवस पर छत्तीसगढ़ के हज़ार गांवों को “गो ब्लू” नीले रंग में रंगा जाएगा

0 बाल अधिकारों को बढ़ावा देने 14 नवंबर से सप्ताह भर चलेगा समारोह

रायपुर। विश्व बाल दिवस के अवसर पर वैश्विक अभियान #GoBlue के तहत छत्तीसगढ़ के 1000 से अधिक गांवों को नीले रंग में रंगा जाएगा। बाल अधिकारों पर अधिक जागरूकता पैदा करने के लिए यूनिसेफ की यह अभिनव पहल 14 नवंबर को राष्ट्रीय बाल दिवस से 20 नवंबर को विश्व बाल दिवस तक शुरू होगी। यह बच्चों और समुदाय में बच्चों की भागीदारी सुनिश्चित करेगा। राज्य के 1000 से अधिक गांवों में ‘बाल सभा’ ​​और ‘बाल ओलंपिक’ का भी आयोजन किया जाएगा।

सप्ताह भर चलने वाले इस समारोह में 20 नवंबर को बच्चों के अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की वर्षगांठ होगी। यूनिसेफ बाल अधिकारों को उजागर करने और बच्चों की सुरक्षा और संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन करेगा। अभियान का उद्देश्य बच्चों और युवाओं के लिए जीवन कौशल हासिल करने और प्रेरक रोल मॉडल और लड़कियों के सशक्तिकरण का निर्माण करने के लिए खेल के अवसर पैदा करना है। इसी के अंतर्गत सोशल मीडिया पे आधारित एक रील्स प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जा रहा है जो सभी के लिए है । इसमें प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार क्रमशः 10000, 5000, 3000 है एवं दस सांत्वना पुरस्कार भी दिए जाएँगे। ये प्रतियोगिता बच्चों की शिक्षा, रहन- सहन, कला, गीत- संगीत और उनके जीवन से जुड़े अन्य मुद्दों पर आधारित होगी। प्रविष्टियाँ भेजने की तारीख़ 14-20 नवंबर है। 9685091678 इस नम्बर पर WhatsApp करें।

बच्चे ‘कार्यभार संभालेंगे’

प्रमुख कार्यालयों में

अभियान के दौरान, बच्चे #KidsTakeOver के वैश्विक अभियान के तहत, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, मीडिया घरानों के संपादकों, नेताओं, ग्राम पंचायतों के सरपंचों, मशहूर हस्तियों और यूनिसेफ कार्यालय जैसे उच्च दृश्यमान कार्यालयों को प्रतीकात्मक रूप से ‘अधिग्रहण’ करेंगे।

छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत 16 नवंबर को सक्ती ज़िले के जोगरा गांव में बाल हितैषी ग्राम पंचायत एक अनूठी पहल का शुभारंभ करेंगे जबकि वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री 14 नवंबर को रायपुर में अभियान को हरी झंडी दिखाएंगे। 14 नवंबर को बाल-हितैषी पुलिस थाने की पहल को उजागर करने के लिए रायपुर में यूनिसेफ और पुलिस विभाग द्वारा संयुक्त रूप से एक और कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ निजी स्कूल प्रबंधन संघ के सहयोग से 20 नवंबर को रायपुर में 3 श्रेणियों में स्थानीय खेलों सहित 10 खेल आयोजनों में 75 से अधिक स्कूलों के बच्चों के लिए एक खेल उत्सव आयोजित किया जाएगा। अनुज शर्मा, यूनिसेफ सेलिब्रिटी एडवोकेट 20 नवंबर को समापन समारोह में छत्तीसगढ़ के बच्चों का जश्न मनाते हुए एक संगीत कार्यक्रम की मेजबानी करेंगे।

यूनिसेफ की अपील

यूनिसेफ छत्तीसगढ़ सभी से 14-20 नवंबर के दौरान सभी घरों, स्कूलों, आंगनवाड़ी केंद्रों और संस्थानों में बाल दिवस मनाने की अपील करता है। यूनिसेफ छत्तीसगढ़ के प्रमुख जॉब जकारिया का कहना है कि बच्चे परिवार और देश की सबसे मूल्यवान संपत्ति हैं। बच्चों का पोषण और निवेश करना सभी की जिम्मेदारी है। यह एक दिन का विषय नहीं है, क्योंकि हर दिन बाल दिवस है। छत्तीसगढ़ चाइल्ड राइट्स ऑब्जर्वेटरी और मीडिया कलेक्टिव फॉर चाइल्ड से जुड़े सरपंचों और नागरिक समाज संगठनों की साझेदारी में यूनिसेफ द्वारा सप्ताह भर चलने वाले समारोह का आयोजन किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.