“ऐन होली में 147 परिवारों को हटाने की नोटिस क्यों?” बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर विपक्ष का हंगामा

मिसाल न्यूज़

रायपुर। विधानसभा में आज प्रदेश की बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था को लेकर विपक्षी भाजपा विधायकों ने सवाल पर सवाल खड़े किए। विपक्ष ने आरोप लगाया कि ऐन होली के त्यौहार के समय नये रायपुर से लगे सेरीखेड़ी गांव में 147 परिवारों को हटाने की नोटिस दे दी गई। वो परिवार ज्ञापन सौंपना चाह रहे थे तो उन पर लाठी चार्ज किया गया। महासमुन्द में शराबियों व्दारा पुलिस अफसर की हत्या कर दी जाती है। राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम के निवास में चोरी की घटना हो जाती है। विपक्ष व्दारा इस पर चर्चा कराने हेतु स्थगन प्रस्ताव दिया गया था जिसे अध्यक्ष ने अग्राह्य कर दिया। इसके विरोध में विपक्ष की तरफ से हंगामा होने लगा और सभापति को सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

शून्यकाल के दौरान नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि 18 मार्च को होली खेलने का दिन था। उसके ठीक एक दिन पहले 17 तारीख को छेरीखेड़ी के 147 परिवारों को हटाने की नोटिस दे दी जाती है। ये लोग जब मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर को ज्ञापन देने जा रहे थे उन पर लाठी चार्ज कर दिया गया। पूरे प्रदेश में अराजकता की स्थिति है। नशे का कारोबार अलग फल फूल रहा है। भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि 19 मार्च को नई राजधानी से लगे सेरीखेड़ी गांव 147 परिवारों को उजाड़ने के लिए नोटिस दे दी गई। नोटिस भी होली के दिन दी गई। नोटिस पाने वाले लोग सेरीखेड़ी से 20 किलोमीटर पैदल चलकर मुख्यमंत्री एवं कलेक्टर को ज्ञापन देने रायपुर आए हुए थे। इन पर लाठियां बरसाई गईं। घूसे चलाए गए। भाजपा के जो लोग इन प्रदर्शनकारियों को बचाने गए थे उनमें से 15 लोगों को गैर जमानती धारा में अरेस्ट कर लिया गया। उधर महासमुन्द में पुलिस अधिकारी की हत्या हो गई। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि मुझे तो लगता है कि पुलिस को खुद सूरक्षा कर्मी उपलब्ध कराए जाने की ज़रूरत है। आम नागरिकों की सूरक्षा भगवान भरोसे है। पांच छह बार विधायक रह चुके रामविचार नेताम भी असूरक्षित हैं। उनके यहां चोरी हो गई। महासमुन्द में पुलिस अधिकारी विकास शर्मा की हत्या कर दी जाती है। कलेक्ट्रेट परिसर के भीतर शासकीय कर्मचारी को सरेआम चाकू मार दिया जाता है। छत्तीसगढ़ में चलन हो गया है कि किसी पर भी एट्रोसिटी एक्ट लगा दो और उसे दो-चार दिन के लिए जेल भेज दो। प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की चीज ही नहीं रही। पुलिस अपने मूल कामों से हट चुकी है जो काम उसे नहीं करना चाहिए कर रही है।

भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि प्रदेश में मानो कानून व्यवस्था समाप्त हो गई है। महासमुन्द में 19 मार्च को साइबर सेल में पदस्थ एएसआई विकास शर्मा की हत्या हो गई। राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम के अंबिकापुर स्थित निवास में चोरी की घटना हो गई। राजधानी रायपुर में पिछले 2-3 दिनों में आधा दर्जन चाकूबाजी की घटनाएं हुईं। कोरबा में भी चाकूबाजी हुई। रायपुर में 3 वर्षीय मासूम बालक का अपहरण हो गया। रायपुर से लगे सेरीखेड़ी में 147 परिवारों को उजाड़ने का प्रयास हुआ।

भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बद से बदतर हो गई  है। अंबिकापुर में राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम के निवास से लगकर कुछ अफसरों का निवास है। चोरों के मन में ऐसे स्थानों का भी किसी तरह का खौफ नहीं है। चोरों ने नेताम के बंगले में चोरी की घटना को अंजाम दिया। रायपुर के अलावा जांजगीर चाम्पा, कोरबा, एवं रायगढ़ में लगातार चोरी की घटनाएं हो रही हैं।

अन्य भाजपा विधायकगण पुन्नूलाल मोहले, रजनीश सिंह एवं श्रीमती रंजना डिपेंद्र साहू ने भी इस गंभीर विषय पर अपनी बातें रखी। भाजपा विधायकगण मांग करने लगे कि सारे कामकाज रोककर स्थगन पर चर्चा कराई जाए। सभापति सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि स्थगन की सूचना को अध्यक्ष ने अग्राह्य कर दिया है। यह सुनकर विपक्षी भाजपा विधायकगण शोर मचाने लगे। नारेबाजी होने लगी। शोरगुल नहीं थमते देख सभापति को सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.