“गरीबों के डॉक्टर” ने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में लगाए स्वास्थ्य शिविर- सेनेटरी नैपकिंस, चप्पल, स्टेशनरी और खाद्य सामग्री का किया वितरण

मिसाल न्यूज़

नगरी। विश्व स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ के जनाे-माने चिकित्सा विशेषज्ञ प्रो. डॉ अजय सहाय, जो कि अंचल में गरीबों के डॉक्टर के नाम से मशहूर हैं, ने अपने सहयोगियों के साथ नक्सल प्रभावित क्षेत्र नगरी के विभिन्न स्कूलों में निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर व जागरूकता अभियान का आयोजन कर छात्र छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया तथा स्वस्थ रहने के टिप्स दिए। ग्राम जबर्रा, देवगांव तथा मुनईकेरा के विद्यार्थियों को चप्पलें, मास्क, स्टेशनरी व खाद्य सामग्रियां वितरित की। साथ ही बेटियों को सेनेटरी नेपकिन्स प्रदान कर व्यक्तिगत स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। इस अवसर पर ग्रामवासियों का भी स्वास्थ्य परीक्षण करके आवश्कतानुसार दवाएं दी गईं। 113 लोगों के ब्लड शुगर की जांच की गई।

डॉ अजय सहाय की टीम में डॉ श्याम शर्मा , डॉ भूपेंद्र कुर्रे, प्रेमलता भारद्वाज, संतोष वर्मा वा हेमू नेताम शामिल थे। डॉ राजेंद्र साहू (कंडरका) और डॉ खेमेंद्र साहू (नगरी) के अथक प्रयासों की वजह से इन शिविरों का सफल आयोजन हो सका। साहित्यकार वा शिक्षाविद् डॉ परदेसीराम वर्मा व रंगकर्मी महेश वर्मा प्रत्येक शिविर में लगातार साथ रहे और छात्र छात्राओं को शिक्षा के प्रति प्रेरित करते रहे। विदित हो कि डॉ परदेशी राम वर्मा की रचनाओं को स्कूली पाठयक्रम में सम्मिलित किया गया है। इन आयोजनों में जनपद अध्यक्ष सुश्री दिनेश्वरी नेताम, ग्राम मुनईकेरा के सरपंच महेन्द्र नेताम एवं जबर्रा के सरपंच लेखनी नेताम का उल्लेखनीय सहयोग रहा । घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र में आकर सेवाएं प्रदान करने के लिए संबंधित पाठशालाओं के प्रधान पाठकों द्वारा डॉ सहाय की टीम के प्रति आभार व्यक्त किया गया।

विदित हो कि डॉ अजय सहाय सुदूर ग्रामीण अंचलों, आदिवासी बहुल इलाकों व संवेदनशील नक्सल क्षेत्रों में जाकर निशुल्क स्वास्थ्य शिविर एवं जागरूकता अभियान का आयोजन करते रहते हैं। लोगों को अच्छे स्वास्थ्य व सामाजिक कुरीतियों के प्रति जागरूक करते रहते हैं। डॉ. सहाय एक फिल्म निर्माता, निर्देशक और लेखक भी हैं। उनके द्वारा सामाजिक व कानूनी जागरूकता के उद्देश्य से बनाई गई शॉर्ट फिल्में “कैसे बताऊं” एवं “नोनी” को क्रमशः दूसरे व तीसरे राष्ट्रीय शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल्स में हाईकोर्ट छत्तीसगढ़ के मुख्य न्यायाधीशों के करकमलों से प्रथम पुरस्कार मिल चुके हैं। डॉ सहाय बहुत सी समाजसेवी संस्थाओं के महत्वपूर्ण पदों पर आसीन हैं। चिकित्सकों की सबसे बड़ी राष्ट्रीय संस्था इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की छत्तीसगढ़ शाखा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.