ढेबर के बजट में बड़े वादे नहीं, संतुलित विकास पर जोर

मिसाल न्यूज़

रायपुर। रायपुर महापौर एजाज़ ढेबर ने आज नगर निगम का वर्ष 2022-23 का अनुमानित बजट पेश किया। बजट में संतुलित विकास पर जोर दिया गया है। कोई बड़े वादे नहीं किए गए हैं। पुराने या हाल ही में शुरु हुए कार्यों के क्रियान्वयन पर बल दिया गया है। बजट में बताया गया है कि रायपुर शहर की लाइफ लाइन खारून नदी के शुद्धिकरण की दिशा में बड़ी पहल होगी। लघु व्यवसायियों के लिए कार्य योजना तैयार की जाएगी। शहर को टैंकर मुक्त किया जाएगा। निगम के सभी 10 जोन में एम्बूलेंस की व्यवस्था की जाएगी। मुक्ति धामों में अंतिम संस्कार हेतु निम्न आय वर्ग के लोगों को निशुल्क गौ काष्ठ उपलब्ध कराया जाएगा। स्वास्थ्य सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए 80 क्लीनिक खोले जाएंगे।

ये हैं वादे-

0 रायपुर की जीवनदाायिनी खारुन नदी के शुद्धिकरण का लक्ष्य आगामी 3 वर्षों की कार्य योजना में शामिल किया गया है। इसके तहत रायपुर शहर से बहकर नदी में पहुंचने वाले अपशिष्ट मिश्रित 17 नालों के पानी शुद्धिकरण हेतु 206 एमएलडी के चाार एसटीपी शुरु होंगे

0 पौनी पसारी योजना व नये वेंडिंग जोन का निर्धारण कर लघु व्यवसायियों को सुगम व्यवसाय के  लिए सहायता करने पूरे नगर निगम क्षेत्र में कार्य योजना तैयार कर इसका क्रियान्वयन किया जाएगा

0 टैंकर मुक्त व्यवस्था सुनिश्चित करने अमृत मिशन योजना का त्वरित क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा

0 संपूर्ण नगर निगम क्षेत्र में स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। मरीजों को समय पर एम्बुलेंस जैसी ज़रूरी सुविधाएं तत्काल प्राप्त हों इसके लिए सभी 10 जोन में पृथक-पृथक 10 एम्बुलेंस की व्यवस्था नगर निगम व्दारा की जाएगी

0 परिवार में  किसी सदस्य की मृत्यु के उपरांत शव को सूरक्षित रखने डी प्रीजर की आवश्यकता महसूस की जाती है। रायपुर नगर निगम इस दिशा   में संवेदनशील पहल करते हुए निगम के सभी 10 जोन में पृथक-पृथक डी प्रीजर की सुविधा उपलब्ध कराएगा

0 नगर निगम क्षेत्र के सभी मुक्तिधामों में दाह संस्कार हेतु गौ काष्ठ उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें निम्न आय वर्ग के लोगों को उनके मृत परिजनों के दाह संस्कार हेतु निशुल्क गौ काष्ठ निगम व्दारा उपलब्ध कराया जाएगा

0 इस वित्तीय वर्ष में निर्धन परिवारों के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा की सुविधा उपलब्ध कराने भाटागांव स्थित बिन्नी बाई सोनकर उत्कृष्ट विद्यालय का अंग्रेजी माध्यम स्कूल के रूप में उन्नयन करके सुविधा संपन्न बनाया जाएगा

0 घरेलू ज़रूरत की उपयोगी सेवाए जैसे कारपेंटर, प्लंबर, टीवी, फ्रीज, कूलर, मैकेनिक आदि की सहज उपलब्धता सुनिश्चित करने ऑन लाइन पोर्टल एप तैयार किया जाएगा। इससे स्थानीय कामगारों को रोजगार मिलेगा एवं आम लोगों को घर बैठे उनकी ज़रूरतें पूरी होंगी

0 स्वास्थ्य सेवा की पहुंच सुगमतापूर्वक हर घर तक हो सके इसके लिए मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का कवरेज बढाया जाएगा एवं मोहल्ला क्लीनिक स्थापित होंगे। मोहल्ला क्लीनिक हेतु शासन व्दारा 70 वार्डों में एवं 10 जोन कार्यालयों में कुल 80 क्लीनिक की स्थापना की जाएगी। प्रत्येक मोहल्ला क्लीनिक हेतु 25-25 लाख की स्वीकृति शाासन से प्राप्त होगी

0 शासकीय विद्यालयों को अध्ययन, अध्यापन के साथ अधोसंरचना तौर पर विकसित कर बौद्धिक, शैक्षिक, खेल व साांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने सुदृढ़ आधारशिला  तैयार की जाएगी

0 रायपुर के खेल मैदानों को सुविधाजनक रूप से विकसित करने के साात तालाबों व उद्यानों को भी नया कलेवर आगामी 3 वर्षों में दिया जाएगा।

 

बजट के विस्तारित बिन्दु-

0 श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर :- छत्तीसगढ़ राज्य के निर्धन के एवं मध्यम वर्गीय परिवार चिकित्सा एवं दवा पर होने वाले व्यय के भार से चिंतामुक्त हो सकें, दवाएं रियायती दर पर एवं सबकी पहुंच पर हो, इस उद्देश्य से आम नागरिकों को उच्च गुणवत्ता की जेनेरिक दवाइयां सस्ती दरों पर सुलभ कराने हेतु छत्तीसगढ़ में श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना संचालित की जा रही है। राज्य प्रवर्तित श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजनांतर्गत नगर निगम, रायपुर क्षेत्र में भी धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर से रियायती दर पर दवाएं उपलब्ध है। इसके तहत प्रथम चरण में नेताजी सुभाष स्टेडियम एवं अमलीडीह मोहल्ला क्लीनिक के समीप 19 अक्टूबर 2021 से जेनेरिक मेडिकल स्टोर शुरू किया गया। अगले चरण में नगर निगम रायपुर द्वारा कैनाल लिंकिंग रोड,
अंतर्राज्यीय बस स्टैंड, डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल एवं जी.ई. रोड आयुर्वेदिक कॉलेज के समीप भी जेनेरिक मेडिकल स्टोर की स्थापना की गई है। इन दवा दुकानों पर दवाएं गुणवत्तायुक्त एवं 72% तक रियायती दरों पर उपलब्ध होने से निम्न एवं मध्यम आय वर्ग के लिए दवाओं पर होने वाला खर्च को कम करने में सहायता मिली हैं लाखों गरीब परिवार, जो आर्थिक तंगी के कारण दवा खरीदने में असमर्थ थे, उन्हें राज्य सरकार के इस प्रयास से एक बड़ी मदद पहुंची है। मुख्यमंत्री स्लम योजना एवं धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना से अब सैकड़ों परिवार सीधे तौर पर जुड़कर कम राशि खर्च कर दवा खरीदने में सक्षम होकर अपनी बीमारी का सही उपचार करा रहे हैं। इन जेनेरिक दवाओं के रियायती दर पर विक्रय से 24 हजार से ज्यादा परिवार लाभान्वित हुए हैं। इन परिवारों को लगभग एक करोड़ 10 लाख की रियायत प्राप्त हुई है। यदि ये परिवार इन्ही दवाइयों को अन्य दुकानों से क्रय करते तो इन्हें लगभग एक करोड़ 77 लाख रुपये खर्च करने पड़ते इस एक करोड़ 10 लाख रूपये की बचत राशि को ये परिवार अब अपने जीवन की बेहतरी एवं अन्य आवश्यक कार्यों के लिए उपयोग करेंगे।

0 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय योजना :- न्यूनतम आय वर्ग के ऐसे बच्चें, जिनके पालक सुविधा व संसाधनों के अभाव में अपने बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा उपलब्ध कराने में स्वयं को असमर्थ महसूस करते हैं, इन परिवारों के सपनों को साकार करने के लिए अंग्रेजी माध्यम में निःशुल्क गुणवत्तायुक्त उच्च स्तरीय शिक्षा-संसाधन सुलभ कराने हेतु छत्तीसगढ़ शासन द्वारा स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय योजना का शुभारंभ किया गया है। गत वित्तीय वर्ष में शासकीय बी. पी. पुजारी स्कूल में इस योजना के तहत अंग्रेजी माध्यम में अध्यापन की सुविधा शुरू की गई थी। वर्ष 2021-22 में नगर निगम रायपुर क्षेत्र के  शासकीय स्कूलों आर.डी. तिवारी स्कूल, बी पी पुजारी एवं शहीद स्मारक स्कूल में भी अंग्रेजी माध्यम में शिक्षा प्रारंभ की गई। वर्तमान में इन तीनों स्कूलों में 2144 विद्यार्थी अध्ययन प्राप्त कर अपने कैरियर को नई दिशा दे रहे हैं। इन स्कूलों में निम्न आय वर्ग से जुड़े परिवारों के साथ, शासकीय, अशासकीय संस्थानों, सीमांत व बड़े व्यवसायी परिवारों के बच्चे एक साथ अध्ययन कर सामाजिक समरसता की एक नई इबारत लिख रहे हैं। निजी अंग्रेजी स्कूलों से भी उन्नत सुविधाओं से सुसज्जित इस विद्यालय में बौद्धिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ ही खेल गतिविधियों को भी व्यापक प्रोत्साहन दिया जा रहा है, जिसकी वजह से यहां अध्यनरत बच्चें ज्ञान, विज्ञान के साथ ही राष्ट्रीय स्तर की खेल गतिविधियों में भी अपना परचम लहरा रहे हैं। इस योजना के तहत चयनित इन विद्यालयों में कक्षा 1 से 12वीं तक अंग्रेजी माध्यम में अध्ययन की सुविधा उपलब्ध है। अध्यापन कार्य हेतु पृथक सेट-अप तैयार कर शैक्षणिक वातावरण तैयार किया गया है और वर्चुअल क्लास एवं स्मार्ट क्लास के माध्यम से अध्यापन कार्य का संचालन योग्य एवं अनुभवी शिक्षकों द्वारा किया जाता है। स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय में आधुनिक प्रयोगशाला, कम्प्यूटर कक्ष, उन्नत लाइब्रेरी तैयार की गई है। बी.पी. पुजारी स्कूल में राष्ट्रीय स्तर का बास्केटबॉल मैदान तैयार किया गया है, साथ ही आर.डी. तिवारी स्कूल के खेल मैदान के उन्नयन हेतु कार्य योजना तैयार की जा रही है।

0 सरोवर सौंदर्यीकरण कार्य :- तालाबों के शहर के रूप में ख्यातिलब्ध रायपुर के पुराने तालाब अपना अस्तित्व खोने लगे थे, अवैध अतिक्रमण, सुविधा विहीन तालाबों से आम नागरिक दूर होते जा रहे थे। ऐतिहासिक विरासत को संवारने व संजोने के अपने अहम प्रयासों की कड़ी में रायपुर नगर निगम ने शहर के महत्वपूर्ण तालाबों के सफाई, संरक्षण, संवर्धन और सौंदर्यीकरण का निर्णय लेते हुए इन तालाबों को पुनर्जीवित व पुनः प्रतिष्ठित करने का संकल्ला लिया है। जो कि तालाबों की विरासत को संरक्षित करने की ऐतिहासिक पहल है। रायपुर में ऐतिहासिक विरासत के रूप में अपनी पहचान रखने वाले बूढ़ातालाब- स्वामी विवेकानंद सरोवर सहित 42 तालाबों का 53 करोड़ रुपये की लागत से सौंदर्यीकरण की योजना तैयार कर इस पर क्रियान्वयन शुरू किया गया है। सरोवर को धरोहर के रूप में सुरक्षित रखने के इन प्रयासों का प्रतिफल है कि शहर के तालाब, जिनसे बच्चों, बड़ों के बीच दूरी बनती जा रही थी, अब वहां निर्मित सुंदर बाग-बगीचे, पाथवे, क्रीडा केन्द्र फिर से गुलजार हो कर इन तालाबों को पुनः नई पहचान दे रहे हैं।

0 शहर की अनमोल विरासत से आम लोगों को जोड़ने वाले बूढ़ातालाब का सौंदर्यीकरण की शुरूआत वर्ष 2020 में हुई। दो चरणों में निर्धारित कार्य योजना के प्रथम चरण में तालाब की गंदगी, कचरे, जल कुंभियों, जमे गाद को दूर कर तालाब के पानी को स्वच्छ किया गया है। तालाब के किनारे नव निर्मित संरचना से स्वामी विवेकानंद जी की विशाल प्रतिमा तक पहुंचने हेतु फ्लोटिंग जल सेतु का निर्माण किया गया, साथ ही आकर्षक प्रवेश द्वार चिल्ड्रन पार्क, दो स्तरीय पाथवे, म्यूजिकल फाउंटेन, आकर्षक लैण्ड स्केपिंग और जगमगाती रोशनी के बीच नौकायान का आनंद रायपुर निवासियों के साथ-साथ प्रदेश भर से पहुंचने वाले पर्यटक ले रहे हैं। बूढ़ा तालाब विकास योजना के द्वितीय चरण का कार्य प्रगतिरत है तथा ओपन थिएटर एंव चॅडिंग जोन निर्मित कर रायपुरवासियों के दैनिक जीवन के अभिन्न अंग के रूप में विकसित करने की योजना है, जो इस तालाब के संरक्षण एवं संवर्धन को आत्मनिर्भरता प्रदान करेगा। तालाब संवर्धन की इन योजनाओं के पूरा हो जाने से आम निस्तारी के लिए लोगों को अपने क्षेत्र में उपयुक्त तालाब सुलभ होगा और इनके संवर्धन से जल संरक्षण की दिशा में सहायता मिलेगी।

0  उद्यानों का विकास :- आम नागरिकों को आमोद-प्रमोद, व्यायाम व सैर के लिए सुव्यवस्थित स्थल उपलब्ध कराने की योजना के तहत नगर निगम रायपुर एवं रायपुर स्मार्ट सिटी लिमि. द्वारा लगभग 32 करोड़ रुपये की लागत से 48 उद्यानों को स्मार्ट सेल्फ सस्टेनेबल रूप में विकसित करने की योजना तैयार की गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के करकमलों से 13 जून 2021 को द्वितीय चरण के अंतर्गत प्रस्तावित शेष 30 उद्यानों के विकास कार्यों का शुभारंभ किया गया। नगर निगम रायपुर एवं रायपुर स्मार्ट सिटी लिमि. द्वारा उन स्थलों को भी उद्यान के रूप में विकसित किया जा रहा है, जो रिक्त शासकीय भू-खंड होने के कारण कतिपय लोगों द्वारा बेजा कब्जा कर स्वतः उपयोग में लाया जा रहा था।

0 स्मार्ट रोड योजना का क्रियान्वयन :- तेजी से महानगर का स्वरूप ले रहे रायपुर शहर में सघन आबादी व आवाजाही वाले क्षेत्रों में अबाधित यातायात व पार्किंग व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु स्मार्ट रोड योजना की परिकल्पना रायपुर में पूरी हो रही है। प्रथम कार्य योजना के अंतर्गत रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा ऑक्सीजोन के समीप 220 मीटर सड़क को जी.ई. रोड से राजा तालाब रोड तक जोड़ने हेतु स्मार्ट रोड निर्मित किया गया था। गत वित्तीय वर्ष में
175 रूपये की लागत से शहर के महत्वपूर्ण 7 मार्गों को स्मार्ट सड़क के रूप में चिन्हित कर इन्हें विकसित करने की योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ किया गया है। रायपुर नगर की सड़कों को सु-व्यवस्थित, सु-नियोजित व जन सुविधा अनुरूप उन्नत करने हेतु स्मार्ट सड़क योजना का भूमिपूजन माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के करकमलों से 13 जून 2021 को हुआ है। इसके तहत खालसा स्कूल से कलेक्ट्रेट चौक, शास्त्री चौक से जयस्तंभ होकर फाफाडीह चौक, विद्यावरण शुक्ल चौक से महिला थाना चौक होकर राजीव गांधी चौक तक एवं कोतवाली से महात्मा गांधी सदन नगर पालिक निगम कार्यालय तक, कालीबाड़ी-कोतवाली जयस्तंभ चौक, बूंदेश्वर मंदिर-लाखेनगर, बुढ़ातालाब परिधि महाराजबंध तालाब, स्मार्ट रोड (फेस-2) सौंदर्यीकरण कार्य, आमापारा चौक से लाखे नगर होकर राजकुमार कॉलेज जीई रोड तक स्मार्ट सड़क का निर्माण होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.