दिल्ली से आई रोड डॉक्टर मशीन पाट रही रायपुर के गड्ढों को

0 मैनुअल पद्धति से भी भरे जा रहे गड्ढे

मिसाल न्यूज़

रायपुर। रायपुर शहर की सड़कों में हुए गड्ढों की मरम्मत तेजी से शुरू कर दी गई है। दिल्ली से आई रोड डॉक्टर मशीन के माध्यम से करीब 2 हजार वर्ग फीट के सैकड़ों गड्ढों की सप्ताह भर के भीतर फीलिंग कर दी गई है। निगम कमिश्नर मयंक चतुर्वेदी ने रोड डॉक्टर मशीन के अलावा मैनुअल पद्धति से भी सड़कों के पेंच भरने के निर्देश दिए हैं।

निगम के लोककर्म विभाग के अधीक्षण अभियंता हेमंत शर्मा ने बताया कि अभी स्टेशन रोड, तेलघानी नाका राठौर चौक के आसपास की सड़कों में हुए गड्ढों को भरा जा रहा है। आज रात निवेदिता स्कूल के आसपास में काम किया जाएगा।रोड डॉक्टर मशीन का आकार विशालकाय कटेंनर की तरह है। इस वजह से ट्रैफिक में बाधा उत्पन्न हो सकती है। इससे बचने रिपेयरिंग का काम रात 10 बजे से किया जा रहा है। इस मशीन में गैस की पाइप लाइन होती है। जिसकी मदद से खराब हुई सड़क को 140 डिग्री तक पिघलाया जाता है। ये काम ठीक उसी तरह का होता है जैसे पहिले का पंचर बनाते समय उस जगह को घिसा जाता है। गर्म होने से आसपास का मटेरियल खराब नहीं होता, बल्कि उसका उपयोग कर लिया जाता है। इसके बाद जरूरत के अनुसार गड्ढे में इसी मशीन से और मटेरियल भरा जाता है। गड्ढा होने की वजह से आसपास की सड़क भी थोड़ी ऊपर नीचे हो जाए रहती है। मशीन इसकी भी रिपेयरिंग कर देती है। फिलहाल एक ही मशीन से कार्य किया जा रहा है। दूसरी मशीन भी जल्द आने वाली है। इससे कार्य की रफ्तार बढ़ जाएगी। इसी के साथ ही फाफाडीह क्षेत्र में मैनुअल पद्धति से भी गड्ढों को भरा जा रहा है। सड़कों को भरने का काम 2 अक्टूबर से शुरू किया गया है। कभी कभी बारिश की वजह से भी काम रुक जाता है। निगम कमिश्नर मयंक चतुर्वेदी ने इस काम की नियमित रूप से मॉनिटरिंग कर कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.